Friday, 29 May 2015







                 किसान भाई खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिए कृषि क्षेत्र में समय-समय पर हुए नये शोधों को अपनाएं और उसके अनुरूप खेती करें। उन्नत कृषि तकनीकों पर अमल करें, मिट्टी परीक्षण करवाएं।यह बात प्रदेश के स्कूल शिक्षा उच्चशिक्षा राज्यमंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री श्री दीपक जोशी ने कृषि महोत्सव के तहत कृषि उपज मण्डी प्रांगण नीमच में बुधवार को आयोजित कृषि संगोष्टी के मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए कही। कार्यक्रम की अध्यक्षता सांसद श्री सुधीर गुप्ता ने की। इस मौके पर विधायक श्री कैलाश चावला मनासा, श्री ओमप्रकाश सकलेचा जावद, श्री दिलीपसिंह परिहार नीमच,जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अंवतिका जाट, जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री मदनलाल राठौर,श्री मंगल पटवा, जनपद अध्यक्ष नीमच श्री जगदीश गुर्जर, श्री शांतिलाल मालवीय मंदसौर,मण्डी अध्यक्ष श्री निरंजन राजू तिवारी, श्री दिनेश परिहार, श्री कैलाश जाटव, श्री महेन्द्र भटनागर,श्री हेमन्त हरित, श्री मनीष चौरसिया, श्री प्रेमसिंह परिहार, श्री विश्वदेव शर्मा आदि विशेष अतिथि के रूप में मंचासीन थे।
प्रभारी मंत्री श्री जोशी ने कहा कि मुख्यमंत्री जी की मंशा है  खेती को लाभ का धन्धा बनाना तथा किसानों को उपज का वाजिब दाम दिलाना है। उन्होने कहा भारतीय संस्कृति में खेती का स्थान सर्वोच्च रहा है। कहावत है कि उन्नत खेती मध्यम व्यापार, खेती हमेशा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। खेतीं किसानी भारतीय संस्कृति की आत्मा में वास करती है। प्रभारी मंत्री ने कहा कि किसान भाई शासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं का अधिकाधिक लाभ उठाएं और आत्म निर्भर बनें। प्रभारी मंत्री ने 11 किसानों को बीज, मीनी कीट्स भी वितरित किए।
सांसद श्री सुधीर गुप्ता ने कहा कि कृषि महोत्सव म.प्र. के लिए आधार महोत्सव बन गया है। इसने कृषि तकनीक योजनाओं को घर-घर तक पहुंचाने का काम किया है। उन्होने किसानों का आव्हान किया कि वे गौपालन को बढावा दें और दुग्ध क्रांति लाएं। सांसद श्री गुप्ता ने कहा कि नीम कोटेड यूरिया का उपयोग करें। विधायक श्री परिहार ने कहा कि मुख्य मंत्री जी खेती को लाभ का धंधा बनाने हेतु सतत् प्रयास कर रहे है। नर्मदा का पानी शिप्रा और शिप्रा का जल चम्बल लाने का काम किया जा रहा है। किसानों को पर्याप्त बिजली मिल रही है।उन्होने किसानों से कम पानी में अधिक उत्पादन देने वाली तकनीक अपनाने का आव्हान किया। उपसंचालक कृषि श्री एम एल चौहान ने अपने स्वागत भाषण में कृषि महोत्सव एवं कृषि क्रांति रथ के भ्रमण की विस्तृत रूपरेखा बताई। अतिथियों ने भगवान बलराम के चित्र पर माल्यार्पण किया। कार्यक्रम का संचालन श्री श्यामसिह सांरगदेव ने किया।